AD

Cricket News

Cricket Trending News

'टॉइलट: एक प्रेम कथा' मूवी रिव्यू

अक्षय कुमार की मूवी टॉयलेट एक प्रेम कथा सिनेमाघर में रिलीज़ हो चुकी है| इस मूवी के लिए अक्षय कुमार में काफी प्रमोशन किया और यह फिल्म काफी चर्चा में भी रही| टॉयलेट एक प्रेम कथा मूवी का रिव्यु पढ़े|

Friday, 11 August 2017

/ by Ravi Chaubey
  • टाइम्स ऑफ़ इंडिया: 4/5
  • नवभारत टाइम्स: 4/5
  • हिंदुस्तान टाइम्स: 2.5/5
कहानी: जिद्दी केशव (अक्षय) खुले विचारों वाली जया (भूमि) से दिल लगा बैठता है जो कि उत्तर प्रदेश में उसके पास वाले गांव की रहने वाली है। वे शादी भी करते हैं, लेकिन केशव उसे यह नहीं बता पाता है कि उसके घर में टॉइलट नहीं है और यही वह वजह बन जाती है, जिसे लेकर जया तलाक का मामला दर्ज कराती है। 
फोटो: बाए से दाए भूमि और अक्षय कुमार
रिव्यू: हममें से कइयों के लिए घर में टॉइलट होना भले कोई बड़ी बात न लगती हो, लेकिन यह एक बड़ा मुद्दा है क्योंकि आज भी हमारे देश में 58% भारतीय खुले में शौच के आदी हैं और यकीन मानिए वे ऐसा कर के खुश नहीं हैं। निर्देशक श्री नारायण सिंह ने इस फिल्म के जरिए समाज को एक आईना दिखाने की कोशिश की। फिल्म के जरिए हमें दिखाया गया है कि कैसे हमारे अंधविश्वासी ग्रामीणों ने, आलसी प्रशासन और भ्रष्ट नेताओं ने मिलकर हमारे भारत को गंदगी का सबसे बड़ा तालाब बना रखा है। यहां खासकर महिलाओं के साथ जानवरों से भी ज्यादा असंवेदनशील तरीके से पेश आया जाता है। खेतों और खुले में जाकर शौच करने की हमारी पुरानी आदत पर व्यंग्य करते हुए यह फिल्म बड़े ही मजेदार ढंग से फिल्माई गई है। 
विडियो:ऑफिसियल ट्रेलर टॉयलेट एक प्रेम कथा मूवी
'टॉयलट: एक प्रेम कथा' एक मजबूत लव स्टोरी भी है, जो काफी बैलेंस्ड है। यह आपका मनोरंजन करने के साथ-साथ आपको एजुकेट भी करती है। राइटर जोड़ी सिद्धार्थ-गरिमा हमें अपनी इस मजेदार कहानी से एक ऐसे सफर पर ले जाती है जो इस मुद्दे को लेकर जागरूक करती है कि हमारे घर में महिलाओं के लिए टॉइलट का होना कितना जरूरी है। इस कहानी में टॉइलट की वजह से फिल्म के लीड किरदार केशव और जया के बीच लड़ाई हो जाती है और इस वजह से पंडित जी (सुधीर पांडे) और उनके बड़े बेटे के बीच भी ठन जाती है। दो भाइयों नरु (दिव्येंदु) और केशव के बीच जो प्यार भरा रिश्ता है, वह भी देखने लायक है। गांव में शौचालय के लिए लीड किरदार की जो लड़ाई है, वह याद रखने लायक है। सरपंच से लेकर चुलबुले काका (अनुपम खेर) तक के साथ यूपी के देहातों की हर छोटी-बड़ी बातों को ध्यान में रखकर इसे फिल्माया गया है। वैसे, फिल्म का सेकंड हाफ इस मुख्य समस्या का कारण बताता है और इसके कारण काफी लेक्चरबाजी भी होती है।
फोटो:अक्षय कुमार टॉयलेट एक प्रेम कथा मूवी में
यह पूरी व्यंग्य भरी कहानी अक्षय कुमार के कंधों पर टिकी है। एक बार फिर अक्षय अपने शानदार परफॉर्मेंस से दर्शकों का दिल जीतने के लिए तैयार हैं। इस फिल्म को मिले स्टार्स में से आधा स्टार भूमि के लिए, जो जया के रोल में एकदम परफेक्ट दिख रही हैं। दिव्येंदु की कॉमिक शानदार है। पांडे और खेर की मौजूदगी को आप कहीं भी नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते। फिल्म में कई ऐसे फ़नी मोमेंट्स हैं, जो आपके इमोशन को छूते हैं। 'हंस मत पगली', 'बखेड़ा', 'गोरी तू लठ मार' जैसे म्यूज़िकल ट्रैक एस फिल्म के बोनस पॉइंट हैं। 
फोटो:अक्षय कुमार टॉयलेट एक प्रेम कथा मूवी में
तो चाहे आपके पास कोई बहुत इम्पॉर्टेंट काम हो या न हो, प्लीज़ आप इस 'टॉइलट' का चक्कर जरूर लगाएं। हममें से हर किसी को वैसे लोगों के खिलाफ आवाज उठाने की जरूरत है जो खुले में इस तरह की गंदगी फैलाते हैं।
सूत्र: नवभारत टाइम्स

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© 2017 All Rights Reserved
Made With By Infrolic